Best dard bhari shayari collection

 Best dard bhari shayari collection



Dard shayari, If you love to read shayari then you are at right place. Here I’m going to share with you 70+ unique shayari collection by which you can express your feelings in front of your loved one.

Dard is seasoned feelings of heart and needs to express. Dard shayari is an effective way to express the sentiments of dard. We have a vastest collection of dard Shayari in hindi (लव शायरी) for Whatsapp & Facebook Status. Read these Shayari about dard shayari in hindi and english script both.

 I hope you liked this hindi dard shayari collection. Shayari is a type of Stave, that enables a man to express his profound emotions from base of the heart through words. You will get all the Latest and updated collection of best dard shayari in hindi.




1.जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगें,
आसूं भी मोती बन कर बिखर जायेंगें,
ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया,
वर्ना कुछ अपनों के चेहरे उतर जायेंगें...


Jakhm jub mere seene ke bhar jayege,
Aasu bhi moti bun kar bikhar jayege,
Ye mat puchna kis kis ne dhoka diya,
Varna kuch apno ke chehre utar jayege...


Best dard bhari shayari collection



2. अपनी तबाहियों में मेरा हाथ बहुत है,
जितना भी दिया तेरा साथ बहुत है,
टूटा जो दिल का आयना टुटे सभी भरम,
होति है उमर प्यार की जिने के लिए कम,
मरने के लिए दर्द की रात बहुत है...


Apni tabahiyo me mera haath bahut hai,
Jitna bhi diya humnay tera saath bahut hai,
Toota jo dil ka aaina tootay sabhi bharam,
Hoti hai umar pyaar ki jeenay ke liye kam,
Marnay ke liye dard ki raat bahut hai...




3. लिखने वाले एक एहसान लिख दे,
मेरे यार की तकदीर मे उसका प्यार लिख दे,
ना मिले कभि दर्द उसे प्यार मे,
तू चाहे तो मेरी तकदीर मे गम हजार लिख दे...


Likhne wale ek ehsaan likh de,
Mere yaar ki taqdeer me uska pyar likh de,
Na mile kabhi dard use pyar me,
Tu chahe to meri taqdeer me gum hazaar likh de...





4. अल्विदा कहकर जब वो चल दिए,
आंखों ने सारे हसीन ख्वाब खो दिये,
गम ये नही के वो मुझे छोड़ गये,
दर्द तो तब हुआ जब अलविदा कहकर वो खुद रो दिये


Alvida kehkar jab wo chal diye,
Aankho ne sare haseen khwab kho diye,
Gum ye nhi k wo mujhe chhod gye,
Dard to tab hua jab Alvida kehkar wo khud ro diye...





5. केसे बया करु के अल्फाज़ नही है,
दर्द का मेरे तुझे एहसास नही है,
तू पूछता है के क्या दर्द है मुझे,
दर्द तो ये है के तु मेरे पास नही है...


Kese baya karu ke alfaj nhi hai,
Dard ka mere tujhe ehsaas nhi hai,
Tu puchta hai ke kya dard hai mujhe,
Dard to ye he ke tu mere paas nhi hai...





6.अबके जो टूटी तो सिमट ना पायेगी,
ये मोहब्बत है किस्मत नहीं जो पलट जायेगी...


Abke jo tooti to simat na payegi,
Ye mohabbat hai kismat nahi jo palat jayegi...


Best dard bhari shayari collection


7. मर जाऊ मे अगर तो आंसु मत बहाना,
बस कफन कि जगह अपना दुपट्टा चढा जाना,
कोइ पूछे कि रोग क्या था,
तो सर झुका के मुहब्बत बता जाना...


Mar jaau mai agar to aansu mat bahana,
Bas kafan ki jagah apna dupatta chada jana,
Koi pooche ki rog kya tha,
To sir jhuka ke mohabbat bata jana...





8. लोग तो अपना बनाके छोड देते है,
कितनी आसानी से गैरो से रिश्ता जोड़ लेते है,
हम एक फूल तक ना टोड सके कभी,
कुछ लोग तो बेरहमी से दिल भी तोड देते है...


Log to apna banake chhod dete hai,
Kitni aasani se gairon se rishta jod lete hai,
Hum ek phool tak na tod sake kabhi,
kuch log to berehmi se dil bhi tod dete hai...





9. दर्द से खेलना सीख गये हम,
बेवफाई को झेलना सीख गये हम,
क्या बताएं हमे जिन्दगी ने किस कदर सख्त बना दिया,
के पहले कफन ओडना भी सीख गये हम...


Dard se khelna sikh gaye hum,
Bewafayi ko jhelna sikh gaye ham,
Kya btaye Hame zindagi ne kis qadar sakht bana diya,
Ke maut se pehle kafan odna bhi sikh gaye hum...





10. दर्द कितने हैं बता नहीं सकता,
ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकता,
आँखों से समझ सको तो समझ लो,
आंसू गिरें हैं कितने गिना नहीं सकता...


Dard kitne hai bata nahi sakta,
Jakhm kitne hai dikha nahi sakta,
Aankho se samajh sako to samajh lo,
Aansu gire hai kitne gina nahi sakta...





11. नया दर्द एक और दिल में जगा कर चला गया,
कल फिर वो मेरे शहर में आकर चला गया,
जिसे ढूंढ़ता रहा मैं लोगों की भीड़ में,
मुझसे वो अपने आप को छुपा कर चला गया...


Naya dard ek aur dil me jaga kar chala gaya,
Kal fir vo mere shaher me aakar chala gaya,
Jise dhundta raha me logo ki bheed me,
Mujse vo apne aap ko chupa kar chala gaya...


Best dard bhari shayari collection


12. उनको जाना था बेठ के डोली मै वो चले गये,
हमको रोना था मगर रोके ना रुके,
दोनों का सफ़र तो शूरू हो गया था,
फर्क तो सिर्फ इतना था,
उनको डोली मै बिठाया गया और हमे डोली में सुलाया गया...


Unko jana tha beth ke doli me wo chale gaye,
Hamko rokna tha magar roke na ruke,
Dono ka safar to shuru ho gaya tha,
Farq to sirf itna tha,
Unko doli me bithaya gaya aur hame doli me sulaya gaya...





13. रूह के रिश्तों को किसी कसौटी पर ना कस,
कुछ रिश्ते एहसास से गुजर जाया करते हैं...


Rooh ke rishto ko kisi kasoti par na kas,
Kuch rishte ehsaas se guzar jaya karte hai...





14. वक़्त के मोड़ पे ये कैसा वक़्त आया है,
ज़ख़्म दिल की ज़ुबाँ पर आया है,
न रोते थे कभी काँटों की चुभन से,
आज न जाने क्यों फूलों की खुशबू से रोना आया है...


Waqt ke mod pe ye kesa waqt aaya hai,
Jakhm dil ki juba par aaya hai,
Na rote the kabhi kaato ki chubhan se,
Aaj na jaane kyo foolo ki khushboo se rona aaya hai...





15. ज़िन्दगी की राह कैसी भी हो गुजर जाएगी,
एक दिन हम भी चुपके से चले जायेंगें,
आज रहेंगें दोस्तों के दिल मैं याद बन कर,
कल आंसू बन कर आँख से निकल जायेंगें...


Zindagi ki raah kesi bhi ho guzar jayegi,
Ek din ham bhi chupke se chale jayenge,
Aaj rahenge dosto ke dil me yaad ban kar,
Kal aansu ban kar aankh se nikal jayenge...





16. उसको चाहते रहेंगे यूँ उम्र गुजर जायेगी,
मौत आएगी और जिंदगी ले जायेगी,
मेरे मरने पे भी मेरे सनम को रोने न देना,
उसको रोते देख मेरी रूह तड़प जायेगी...


Usko chahte rahenge yu umar guzar jayegi,
Maut ayegi aue zindagi le jayegi,
Mere marne pe bhi mere sanam ko rone na dena,
Usko rote dekh meri rooh tadap jayegi...


Best dard bhari shayari collection



17. ज़िन्दगी से अपना हर डर छुपा लेना,
ख़ुशी ना सही गम गले लगा लेना,
कोइ गर कहे मोहब्बत आसान है,
तो उसे मेरा टूटा हुआ दिल दिखा देना...


Zindgi se apna har dard chhupa lena,
Khushi na sahi gum gale laga lena,
Koi agar kahe mohabbat aasaan hai,
To use mera toota hua dil dikha dena...





18. ना तंग करो इतना हम सताऐ हुऐ हैं,
मोहब्बत का गम दिल पे उठाऐ हुऐ हैं,
खिलौना समझ कर हम से ना खेलो,
हम भी उसी खुदा के बनाऐ हुऐ हैं...


Na tang karo itna ham sataye hue hai,
Mohabbat ka gum dil pe uthay hue hai,
Khilona samajh kar hum se na khelo,
Hum bhi usi khuda ke banaye hue hai...





19. धड़कन बिना दिल का मतलब ही क्या,
रौशनी के बिना दिये का मतलब ही क्या,
क्यों कहते हैं लोग कि मोहब्बत न कर दर्द मिलता है,
वो क्या जाने कि दर्द बिना मोहब्बत का मतलब ही क्या...


Dhadkan bina dil ka matlab hi kya,
Roshni ke bina diye ka matlab hi kya,
Kyo kehte hai log ki mohabbat na kar dard milta hai,
Vo kya jane ki dard bina mohabbat ka matlab hi kya...





20. जाना था दूर तो पास बुलाया क्यूँ था,
प्यार न था हमसे यूं बहलाया क्यूँ था,
खुश थे हम अपनी गम-ए-ज़िन्दगी मैं,
चेहरा अपना दिखा कर तड़पाया क्यूँ था,
अगर वहशत थी सूरत से हमारी ही इतनी,
तो कफ़न मेरे चहेरे से हटाया क्यूँ था...


Jana tha door to paas bulaya kyu tha,
Pyar na tha hamsr yu behlaya kyu tha,
Khush the hum apni gum-e-zindagi me,
Chehra apna dikha kar tadpaya kyu tha,
Agar vehshat thi surat se hamari hi itni,
To kafan mere chehre se hataya kyu tha...





21. शिकायत है उन्हें कि,
हमें मोहब्बत करना नही आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है,
पर इसे शिकायत करना नहीं आता...


Shikayat hai unhe ki,
Hume mohabbat karna nahi aata,
Shikva to is dil ko bhi hai,
Pat ise shikayat karna nahi aata...


Best dard bhari shayari collection



22. कितने दूर निकल गय रिशते निभाते निभाते,
खूद को खो दिया हमने अपनो को पाते पाते,
लोग कहते है दर्द है मेरे दिल में,
और हम थक गए मस्कुराते मस्कुराते...


Kitne dur nikal gye rishte nibhate nibhate,
 Khud ko kho diya humne apno ko pate pate,
 Log kehte hai dard hai mere dil me,
Aur hum thak gye muskurate muskurate...





23. लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है...


Log kehte hai kisi ek ke chale jane se zindagi adhuri nhi hoti,
Lekin laakho ke mil jane se us ek ki kami puri nahi hoti hai...





24. वो देता है दर्द बस हमी को,
क्या समझेगा वो इन आँखों की नमी को,
चाहने वालों की भीड़ से घिरा है जो हर वक़्त,
वो महसूस क्या करेगा बस एक हमारी कमी को...


Vo deta hai dard bus hami ko,
Kya samjega vo in aankho ko nami ko,
Chahne valo ki bheed se ghira hai jo har vaqt,
Vo mehsoos kya karega bus ek hamari kami ko...





25. यह आँसू भी एक अलग परेशानी है,
ख़ुशी और गम दोनो की निशानी है,
समझने वाले के लिए तो अनमोल है,
और जो ना समझ पाए उनके लिए तो सिर्फ़ पानी है...


Yeh aansu bhi ek alag pareshani hai,
Khushi aur gum dono ki nishani hai,
Samjhne vale ke liye to anmol hai,
Aur jo na samjh paye unke liye to sirf pani hai...





26. रोया है बहुत तब जरा करार मिला है,
इस जहाँ में किसे भला सच्चा प्यार मिला है,
गुजर रही है जिंदगी इम्तिहान के दौर से,
एक ख़तम तो दूसरा तैयार मिला है...


Roya hai bahut tab jara karaar mila hai,
Is jaha me kise bhala saccha pyar mila hai,
Gujar rahi hai zindagi imtehaan ke daur se,
Ek khatam to doosra tayyaar mila hai...


Best dard bhari shayari collection



27. जो हमारा प्यार है,
उन्हे किसी और से प्यार है,
बस हार गये हम यह जानकार,
की जिससे उन्हे प्यार है वो हमारा यार है...


Jo hamara pyar hai,
Unhe kisi aur se pyar hai,
Bus haar jaye hum yeh jaankar,
Ki jisse unhe pyar hai vo hamara yaar hai...





28. वक्त के इस मोड़ पे कैसा वक्त आया है,
ज़ख्म इस दिल का जुबां पे आया है,
नहीं रोते थे हम काँटों की चुभन से,
आज फूलों की चुभन ने हमको रुलाया है...


Waqt ke is mod pe kesa aaya hai,
Jakhm is dil ka juba pe aaya hai,
Nahi rote the hum kaanto ki chubhan se,
Aaj foolo ki chubhan ne humko rulaya hai...





29. कितना दर्द है दिल में दिखाया नहीं जाता,
गंभीर है किस्सा सुनाया नहीं जाता,
एक बार जी भर के देख लो इस चहेरे को,
क्योंकि बार-बार कफ़न उठाया नहीं जाता...


Kitna dard hai dil me dikhaya nahi jata,
Gumbheer hai kissa sunaya nahi jata,
Ek baar jee bhar ke dekh lo is chehre ko,
Kyoki baar baar kafan uthaya nahi jata...





30. प्यास ऐसा की पी जाऊ आँखे तेरी,
नसीब ऐसा की हासिल जहर भी नहीं,
बे ग़र्ज वफाए कोई हमसे पूछे,
जिसे टूट के चाहा उसे खबर भी नहीं...


Pyar esa ki pi jaau aankhe teri,
Naseeb esa ki haasil zaher bhi nahi,
Be garz wafaye koi humse pooche,
Jise toot ke chaha use khabar bhi nahi...





31. जाने क्या मुझसे ज़माना चाहता है,
मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसाना चाहता है,
जाने क्या बात झलकती है मेरे इस चेहरे से,
हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है...


Jane kya mujse jamana chahta hai,
Mera dil todkar muje hi hasana chahta hai,
Jane kya baat jhalakti hai mere is chehre se,
Har shaks muje aazmana chahta hai...

Best dard bhari shayari collection


32. ना जाने कितने दर्द समेटे जिगर में अपने,
चली जा रही है जिंदगी दबे पाँव हौले हौले...


Na jane kitne dard samete jigar me apne,
Chali ja rahi hai zindagi dabe paav hole hole...





33. बर्बाद कर गए वो ज़िंदगी प्यार के नाम से,
बेवफाई ही मिली हमें सिर्फ वफ़ा के नाम से,
ज़ख़्म ही ज़ख़्म दिए उस ने दवा के नाम से,
आसमान भी रो पड़ा मेरी मोहब्बत के अंजाम से...


Barbaad kar gaye vo zindagi pyar ke naam se,
Bewafayi hi mili hame sirf wafa ke naam se,
Jakhm hi jakhm diye us ne dava ke naam se,
Aasmaan bhi ro pada meri mohabbat ke anjaam se...





34. दर्द अगर काजल होता तो आँखों में लगा लेते,
दर्द अगर आँचल होता तो अपने सर पर सजा लेते,
दर्द अगर समुंदर होता तो दिल को हम साहिल बना लेते,
और दर्द अगर तेरी मोहब्बत होती तो उसको चाहत-ऐ ला हासिल बना लेते...


Dard agar kaajal hota to aankho me laga lete,
Dard agar aachal hota to apne sir par saja lete,
Dard agar samumdar hota to dil ko hum saahil bana lete,
Aur dard agar teri mohabbat hoti to usko chahat-e la haasil bana lete...





35. वो याद करेगा जिस दिन मेरी मोहब्बत को रोएगा बहुत,
फिर से मेरा होने के लिए...


Vo yaad karega jis din meri mohabbat ko royga bahut,
Fir se mera hone ke liye...





36. निकले हम कहाँ से और किधर निकले,
हर मोड़ पे चौंकाए ऐसा अपना सफ़र निकले,
तूने समझाया क्या रो-रो के अपनी बात,
तेरे हमदर्द भी लेकिन बड़े बे-असर निकले...


Nikle hum kaha se aur kidhar nikle,
Har mod pe chokaye esa apna safar nikle,
Tune samjhaya kya ro ro ke apni baat,
Tere humdard bhi lekin bade be asar nikle...

Best dard bhari shayari collection


37. उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है...


Ulfat ka aksar yahi dastoor hota hai,
Jise chaho vahi apne se door hota hai,
Dil tootkar bikharta hai is kadar,
Jese koi kaach ka khilona choor choor hota hai...





38. मेरी तक़दीर में जलना है तो जल जाऊँगा,
तेरा वादा तो नहीं हूँ जो बदल जाऊँगा,
मुझको समझाओ न मेरी जिंदगी के असूल,
एक दिन मैं खुद ही ठोकर खा के संभल जाऊँगा...


Meri taqdeer me jalna hai to jul jauga,
Tera vada to nahi hu jo badal jauga,
Mujhko samjhao na meri zindagi ke asool,
Ek din me khud ho thokar ka ke sambhal jauga...





39. जिस "चाँद" के हजारों हो चाहने वाले,
दोस्त वो क्या समझेगा एक सितारे कि कमी को...


Jis "chaand" ke hazaro ho chahne vale,
Dost vo kya samjega ek sitare ki kami ko...





40. मेरी बर्बादी पर तू कोई मलाल ना करना,
भूल जाना मेरा ख्याल ना करना,
हम तेरी ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे,
पर तुम मेरी लाश ले कोई सवाल मत करना...


Meri barbaadi par tu koi malaal na karna,
Bhool jana mera khayal na karna,
Hum teri khushi ke liye kafan aud lenge,
Par tum meri  laash le koi savaal mat karna...





41. कई ख्वाईशें आज मैंने जलाई,
तुम्हे लिखी थी पर भेज नहीं पाई,
जले हर्फ़ देर तक चमकते रहे फिर हवाओं में घुल गए,
रिश्ते की अस्थियाँ अश्कों में बहाई...


Kayi khvaaishe aaj mene jalayi,
Tumhe likhi thi par bhej nhi paayi,
Jale harf der tak chamakte rahe fir havao me ghul gaye,
Rishte ki asthiyo ashko me bahayi...


Best dard bhari shayari collection



42. खुदा तू ही बता हमारा क्या होगा,
उजड़े हुए दिल का सहारा क्या होगा,
घबराहट होती है मोहब्बत की नाव में बैठ कर,
गर मझदार ये तो किनारा क्या होगा...


Khuda tu hi bata hamara kya hoga,
Ujde hue dil ka sahara kya joga,
Ghabrahat hoti hai mohabbat ki naav me beth kar,
Gur majdaar ye yo kinara kya hoga...





43. दिल पे क्या गुज़री वो अनजान क्या जाने,
प्यार किसे कहते है वो नादान क्या जाने,
हवा के साथ उड़ गया घर इस परिंदे का,
कैसे बना था घौंसला वो तूफान क्या जाने...


Dil pe kya gujri vo anjaan kya jane,
Pyar kise kehte hai vo nadaan kya jane,
Hava ke saath ud gya ghar is parinde ka,
Kese bana tha ghosla vo tufaan kya jane...





44. उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है...


Ulfat ka aksar yahi dastoor hota hai,
Jise chaho vahi apne se door hota hai,
Dil tootkar bikharta hai is kadar,
Jese koi kaach ka khilona choor choor hota hai...





45. यूं तो मेरी हर बात समझ जाते हो तुम,
फिर भी क्यूँ मुझे इतना सताते हो तुम,
तुम बिन कोई और नहीं है मेरा,
क्या इसी बात का फायदा उठाते हो तुम...


Yu to meri har baat samajh jate ho tum,
Fir bhi kyu muje itna satate ho tum,
Tum bin koi aur nahi hai mera,
Kya isi baat ka fayda uthate ho tum...





46. हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए,
अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए,
हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी,
प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए...


Har khushi ke pehlu hatho se choot gaye,
Ab to khud ke saye bhi humse rooth gaye,
Halaat hai ab ese zindagi me hamari,
Pyar ki raho me hum khud hi toot gaye...


Best dard bhari shayari collection



47. मशहूर हो गया हूँ तो ज़ाहिर है दोस्तो,
इलज़ाम सौ तरह के मेरे सर भी आयेंगे,
थोड़ा सा अपनी चाल बदल कर चलो,
सीधे चले तो मुमकिन है पीठ में खंज़र भी आयेंगे...


Mashhoor ho gaya hu to jahir hai dosto,
Ilzaam so tarah ke mere sir bhi ayenge,
Thoda sa apni chaal badal kar chalo,
Sidhe chale to mumkin peeth me khanjar bhi ayenge...





48. अभी सूरज नहीं डूबा ज़रा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाउंगा मुझे नाकाम होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूँढ़ते हो क्यों,
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले नाम होने दो...


Abhi sooruj nahi duba jara si shaam hone do,
Me khud laut jauga muje nakaam hone do,
Muje badnaam karne ka bahana dhudte ho kyo,
Me khud ho jauga badnaam pehle naam hone do...





49. चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये है,
इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये है,
महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश,
जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है...


Chehro ke liye aaine kurbaan kiye hai,
Is shok me apne bade nuksaan kiye hai,
Mehfil me muje gaaliya dekar hai bahut khush,
Jis shaks par mene bade ehsaan kiye hai...





50. जाने क्या मुझसे ज़माना चाहता है,
मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसाना चाहता है,
जाने क्या बात झलकती है मेरे इस चेहरे से,
हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है...


Jane kya mujse jamana chahta hai,
Mera dil todkar muje hi hasana chahta hai,
Jane kya baad jhalakti hai mere is chehre se,
Har shaks muje aazmana chahta hai...





51. रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हम ने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हाँ मालूम हैं क्या चीज़ हैं मुहब्बत यारो,
अपना ही घर जल कर देखें हैं उजाले हमने...


Raaste khud hi tabahi ke nikale hum ne,
Kar diya dil kisi patthar ke havale humne,
Ha maloom hai kya cheez gai muhabbat yaro,
Apna hi ghar jul kar dekhe hai ujale humne...


Best dard bhari shayari collection



52. कभी आंसू कभी ख़ुशी बेची,
हम गरीबों ने बेकसी बेची,
चंद सांसे खरीदने के लिए,
रोज थोड़ी सी जिन्दगी बेची...


Kabhi aansu kabhi khushi bechi,
Hum gareebo ne bekasi bechi,
Chand saase kharidne ke liye,
Roj thodi si zindagi bechi...





53. मोहब्बत भी चाहते हो और मुक्म्म्ल वफ़ा भी,
जनाब आप तो धुंए के बादलों से बरसात माँग रहे हो...


Mohabbat bhi chahte ho aur mukammal wafa bhi,
Janab aap to dhue ke baadlo se barsaat maang rahe ho...





54. तेरे शहर के कारीगर बङे अजीब हैं ए दिल,
काँच की मरम्मत करते हैं पत्थर के औजारों से...


Tere shaher ke kaarigar bade ajeeb hai e dil,
Kaanch ki marammat hai patthar ke ojaro se..





55. एक दिन जब हुआ प्यार का अहसास उन्हें,
वो सारा दिन आकर हमारे पास रोते रहे,
और हम भी इतने खुद गर्ज़ निकले यारों कि,
आँखे बंद कर के कफ़न में सोते रहे...


Ek din jub hua pyar ka ehsaas unhe,
Vo saara din aakar hamare aas rahe,
Aur hum bhi itne khud garz nikle yaro ki,
Aankhe band kar ke kafan me sote rahe...





56. दर्द दे गए सितम भी दे गए,
ज़ख़्म के साथ वो मरहम भी दे गए,
दो लफ़्ज़ों से कर गए अपना मन हल्का,
और हमें कभी ना रोने की कसम दे गए...


Dard de gaye sitam bhi de gaye,
Jakhm ke saath vo marhum bhi de gaye,
Do lafzo se kar gaye apna man halka,
Aur hume kabhi na rone ki kasam de gaye...


Best dard bhari shayari collection



57. कैसा अनोखा रिश्ता है,
दिल आज भी धोखे में है और धोखेबाज़ दिल में...


Kesa anokha rishta hai,
Dil aaj bhi dhoke me hai aur dhokebaj dil me..





58. एक इंसान मिला जो जीना सिखा गया,
आंसुओं की नमी को पीना सिखा गया,
कभी गुज़रती थी वीरानों में ज़िंदगी,
वो शख्स वीरानों में महफ़िल सजा गया...


Ek insaan mila jo jeena sikha gaya,
Aansuo ki nami ko pina sikha gaya,
Kabhi guzarti thi virano me zindagi,
Vo shaks virano me mehfil saza gaya...





59. जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया,
आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया,
एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि,
हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये,
उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया...


Jo mera tha vo mera ho nahi paya,
Aanko me aansu bhare the par me ro nahi paya,
Ek din unhone mujse kaha ki,
Hum milenge khvabo me par meri badkismati to dekhiye,
Us raat to me khushi ke mare so bho nahi paya...





60. डूबी है मेरी उंगलिया खुद अपने लहू में,
ये कांच के टुकडो को उठाने की सजा है...


Doobi hai meri ungliya khud apne lahu me,
Ye kaanch ke tukdo ko uthane ki saza hai





61. आँखों के सागर में ये जलन हैं कैसी,
आज दिल को तड़पने की लगन हैं कैसी,
बर्फ की तरह पिघल जायेगी जिंदगी,
ये तेरी दूर रहने की कसम हैं कैसी...


Aankho ke sagar me ye jalan hai kesi,
Aaj dil ko tadapne ki lagan hai kesi,
Barf ki tarah pighal jayegi zindagi,
Ye teri door rehne ki kasam hai kesi...


Best dard bhari shayari collection



62. वफ़ा करने से मुकर गया है दिल,
अब प्यार करने से डर गया है दिल,
अब किसी सहारे की बात मत करना,
झूठे दिलासों से भर गया है अब यह दिल...


Wafa karne se mukar gay hai dil,
Ab pyar karne se dar gaya hai dil,
An kisi sahare ki baaf mat karna,
Jhute dilaso se bhar gaya hai ab yeh dil...





63. पलकों के किनारे हमने भिगोये ही नहीं,
वो सोचते हैं कि हम रोये ही नहीं,
वो पूछते हैं कि ख्वाबों मैं किसे देखते हो,
हम हैं कि एक उम्र से सोये ही नहीं...


Palko ke kinare humne bhigaye ho nahi,
Vo sochte hai ki hum roye hi nahi,
Vo puchte hai ki khvabo ne kise dekhte ho,
Hum hai ki ek umar se soye hi nahi...





64. कौन खरीदेगा अब हीरो के दाम में तुम्हारे आँसु,
वो जो दर्द का सौदागर था मोहब्बत छोड़ दी उसने...


Kon khridega ab hero ke daam me tumhare aansu,
Vo Jo dard ka sodagar tha mohabbat chod di usne...





65. टूटा हो दिल तो दुःख होता है,
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है,
दर्द का एहसास तो तब होता है,
जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है...


Toota ho dil to dukh hota hai,
Karke mohabbat kisi se ye dil rota hai,
Dard ka ehsaas to tab hota hai,
Jub kisi se moha6 ho aur uske dil me koi aur hota hai...




66. लिखूं कुछ आज यह वक़्त का तकाजा है,
मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है,
गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर,
लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है...


Likhu kuch aaj yeh waqt ka taqaza hai,
Mere dil ka dard abhi taza taza hai,
Gir padte hai mere aansu mere hi kagaz par,
Lagta hai ki kalam me syahi ka dard jyada hai...


Best dard bhari shayari collection



67. बहुत गौर से देखने पर जिंदगी को जाना मैंने,
दिल जैसा दुश्मन जमाने में नहीं मिलता...


Bahut gaur se dekhne par zindagi ko jana mene,
Dil jesa dushman jamane me nahi milta...





68. सदियों से जागी आँखों को एक बार सुलाने आ जाओ,
 माना कि तुमको प्यार नहीं नफ़रत ही जताने आ जाओ,
 जिस मोड़ पे हमको छोड़ गए हम बैठे अब तक सोच रहे,
 क्या भूल हुई क्यों जुदा हुए बस यह समझाने आ जाओ...


Sadiyo se jaagi aankho ko ek baar sulaane aa jao,
Mana ki tumko pyar nahi nafrat hi jatane aa jao,
Jis mod pe humko chod gaye hum bethe ab tak soch rahe,
Kya bhul hui kyo juda hue bus teh samjhane aa jao...






69. मिट जाए गुनाहों का तस्सवुर इस जहाँ से,
अगर हो जाए यकीं के खुदा देख रहा होगा...


Mit jaye gunaho ka tassavur is jaha se,
Agar ho jaye yaki ke khuda dekh raha hoga...





70. चला गया वो कुछ इस तरह जैसे वो कभी मेरा था ही नहीं,
मुझे ज़िंदा तो रखा उसने मगर मुझ मैं अब मैं ही नहीं,
क्या प्यार ऐसा ही होता हैं,
दिल तो छोड़ गया धड़कने के लिए मगर अब कोई जज्बात ही नहीं...


Chala gaya vo kuch is tarah jese vo kabhi mera tha hi nahi,
Muje zinda to rakha usne magar muj me ab me hi nahi,
Kya pyar esa hi hota hai,
Dil yo chod gaya dhadakne ke liye magar ab kou jazbaat hi nahi...





71. अक्सर ये एहसास होता है मुझे,
के तुमको एहसास नहीं मेरा...


Aksar ye ehsaas hota hai muje,
Ke tumko ehsaas nahi mera...





72. तू मेरे इश्क का बुरा अंजाम न कर,
दिल रो दे मेरा ऐसा कोई काम न कर,
बल खाने दे अपनी जुल्फों को हवाओं में,
जूड़े बांधकर तू मौसम को परेशां न कर,
मुझपे कयामत ढ़ाती है तेरी गजल सी सूरत,
मेरे दिल की मैयत का अब इंतजाम न कर,
ख्वाब ये टूट न जाए इस जनम में मेरा,
इस बस्ती में मेरा इश्क सरेआम न कर...


Tu mere ishq ka bura anjaam na kar,
Dil ro de mera esa koi kaam na kar,
Bal khane de apni zulfo ko havao me,
Jude baandhkar tu mosam ko parehaa na jar,
Mujpe kayamat dhati hai teri gazal si surat,
Mere dil mayyat ka ab intejaam na kar,
Khvaab ye toot na jaye is janam  me mera,
Is basti me mera ishq sareaamna kar...





No comments